कितना रैम आपके फोन में होना चाहिए?

0
20
कितना रैम आपके फोन में होना चाहिए

जब आप एक फोन खरीदते हो तो अक्सर आपके मन में सवाल आता है कि कितने जीबी रैम वाला फ़ोन हमें खरीदना चाहिए? 3जीबी, 4जीबी, 6जीबी या फिर 8जीबी। कितने जीबी रैम वाला फोन आपके लिए अच्छा होगा आपने सोचा तो ज़रूर ही होगा।

आज के इस आर्टिकल में, मैं आपको आसान भाषा में समझाने वाला हूँ कि कितना रैम आपके फोन में होना चाहिए? और कितने जीबी रैम वाला फ़ोन में आपके लिए अच्छा हो सकता है? सबसे पहले आपको ये समझना होगा कि रैम क्या होता है? और स्मार्टफोन में रैम का इस्तेमाल क्यों होता है?

रैम क्या होता है?

रैम, यानिकि रैंडम एक्सेस मेमोरी शॉर्ट फॉर्म में हम सभी इसे रैम भी कहते हैं। रैम एक तरीके का टेम्पररी स्टोरेज मेमोरी है जो डाटा को रैम में टेम्पररी स्टोर करके रखता है ताकि आप उस डाटा का तुरंत इस्तेमाल कर सको।

इसके अलावा अगर आप फोन में एक साथ अलग अलग एप्लीकेशन चालू करते हो या आप एक एप्लीकेशन के बाद दूसरे एप्लीकेशन पर जाते हो तो ऐसे में जो भी काम तुरंत के तुरंत होती है ये सभी रैम की वजह से फ़ास्ट तरीके से हो पाती है। रैम में जो डाटा स्टोर होता है वो टैम्पररी स्टोर होता है।

रैम का इतिहास 

अगर आप पुराने समय के फ़ोन इस्तेमाल करते थे तो आपको ज़रूर पता होगा कि उसमे 128जीबी, 512जीबी, 1जीबी तक का रैम मिलता था। पर जैसे जैसे समय बढ़ता गया वैसे वैसे नयी नयी टेक्नोलॉजी आने लगी और एप्प्स भी अपग्रेड होने लगी। पहले कम स्टोरेज वाले एप्लीकेशन होते थे लेकिन आज के समय में आपको ज्यादा स्टोरेज वाले एप्लीकेशन देखने को मिलते हैं।

आज के समय में आपको कम से कम 50 एमबी से 2जीबी तक के एप्लीकेशन और गेम्स देखने को मिल जायेंगे। लेकिन पहले कुछ केबी और कुछ एमबी में ही देखने को मिलते थे। लेकिन समय के साथ साथ सब कुछ बदलता रहता है।

4जीबी रैम 

आज कल स्मार्टफोन में कम से कम 4जीबी तो ज़रूर होनी ही चाहिए। और देखा जाये तो स्मार्टफोन इंडस्ट्री में जो 4जीबी रैम है वो स्मार्टफोन में एक तरीके से स्टैण्डर्ड भी बनता जा रहा है। जिससे कि उसेर्स किसी भी एप्लीकेशन का अच्छे से इस्तेमाल कर सके। अगर यूजर गेमिंग भी करना चाहें तो गेमिंग भी कर सकें जिससे कि उसेर्स का जो एक्सपीरियंस है वो खराब न हो।

जिस तरह से बाजार में हैवी हैवी एप्लीकेशन आ रहे है तो उस हिसाब से कम से कम किसी भी फोन में 4जीबी रैम तो ज़रूर होना चाहिए। सभी स्मार्टफोन कंपनी रैम के अलग अलग वेरिएंट को लॉन्च करती है। इसलिए करती है जिससे कि यूजर अपने डिमांड के हिसाब से या अपने ज़रूरत के हिसाब से अपने लिए सबसे अच्छा रैम वाला फोन खरीद सके।

2जीबी या 3जीबी रैम 

बाजार में अगर एंट्री लेवल स्मार्टफोन देखा जाए जो कि 5000 रूपए या 7000 के बीच आते हैं। उन सभी में आपको 2जीबी या 3जीबी का रैम देखने को मिल जाएगी। ये 2जीबी या 3जीबी रैम वाला फोन उन उसेर्स के लिए होता है जो एक फीचर फोन यानिकि बटन वाले फोन से स्मार्टफोन लेना चाहते हो।

आपके घर में फोन को कम इस्तेमाल करते हैं उनको आप 2जीबी या 3जीबी रैम वाला फोन दे सकते हैं। और 2जीबी या 3जीबी रैम वाला फोन उनके लिए काफी सही माना गया है। वो लोग जो मोबाइल का काफी इस्तेमाल करते हैं जैसे गेमिंग करना, या छोटी मोटी वीडियो एडिटिंग करना तो उनके लिए 2जीबी या 3जीबी रैम वाला फोन लेना सही नहीं है।

गेमिंग के लिए

अगर आप छोटे गेम के बाद बड़ा गेम खेला चाहते है तो आपको कम से कम 4जीबी रैम वाला फोन तो ज़रूर ही लेना चाहिए। 500एमबी या 1जीबी से ऊपर वाले गेम खेलने के लिए आपको 6 जीबी रैम वाला फोन लेना चाहिए जिसमे आप बिना किस समस्या के अच्छी तरह से गेम खेल सकते हैं।

लेकिन अगर आप इससे भी ज्यादा एक हार्ड कोर गेमर हो, जिसमे आप बहुत हैवी गेमिंग करना चाहते हो, फोन आप लेना चाहते हो सिर्फ गेम खेंलेग के लिए। तो ऐसे में आप कोशिश करें की 8जीबी रैम वाला फोन लें। हालाँकि आपके 6जीबी रैम वाले फोन में एक ज़बरदस्त प्रोसेसर हो तो वो फोन भी आपको एक कमाल की गेमिंग एक्सपीरियंस देगा।

लेकिन किसी भी फोन में रैम ही महत्वपूर्ण नहीं है, सिर्फ रैम से ही आपको फ़ास्ट परफॉरमेंस नहीं मिलेगी। रैम के अलावा आपको एक पावरफुल प्रोसेसर और बढ़िया प्रोसेसर होना भी बहुत ही ज़रूरी है।


जरूर पढ़ें:  सबसे अच्छा गेमिंग प्रोसेसर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here